• August 22, 2022

मानसून के साथ आने वाली बीमारियों से कैसे करे बचाव, जानें

मानसून के साथ आने वाली बीमारियों से कैसे करे बचाव, जानें

इंटरनेट डेस्क। बदलते मौसम के साथ बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है वायरल, खासी, जुकाम, बुखार जेसी बीमारिया भी बदलता मौसम साथ लाता लाता जैसे की गर्मी के बाद बारिश का मौसम बहुत सुकून देता है किन्तु इस समय के तापमान और ह्यूमिडिटी में कीटाणु अधिक सक्रिय हो जाते हैं और विभिन्न प्रकार के मॉनसून संक्रमण होने की संभावना भी बढ़ जाती है। बरसात में आमतौर पर नजर आने वाली बीमारियों में शामिल है स्किन एलर्जी, डेंगू फीवर, मलेरिया और फ्लू इन्फेक्शन बारिश में और ये बीमारिया और भी खतरनाक हो जाती है । क्योकि बारिश में जगह जगह पानी जमा हो जाता है और इसमें मच्छर पनपते है जिनके काटने से ये खतरनाक बीमारिया होती है ये बिमरिया स्वास्थ्य को लंबे समय तक और गंभीर रूप से प्रभावित कर देती हैं। आज हम हेल्थ एक्सपर्ट के सुझाये कुछ ऐसे टिप्स बतायेंगे जिससे आप खुद को और खुद के परिवार को स्वस्थ रख सकती हैं।तो आईये जानते एक्सपर्ट्स के बीमारियों से निदान पाने के कुछ जरूरी टिप्स क्या क्या है।

-मलेरिया – यह एनोफिलीज प्रजाति के मच्छरों द्वारा फैलता है। मलेरिया में आमतौर पर बुखार, शरीर में दर्द, ठंड लगना और पसीना आने जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। यदि आपको भी ऐसी ही किसी लक्षण का अनुभव हो तो बिना इंतजार किए डॉक्टर से मिलकर जांच करवाएं।

डेंगू – डेंगू एडीज एजिप्ट प्रजाति के मच्छरों के काटने से फैलता है। वहीं इसमें बुखार, रैशेज, सिरदर्द और प्लेटलेट काउंट में कमी होने जैसे लक्षण नजर आते हैं। यदि सही मैनेजमेंट के अंतर्गत और समय रहते इसका इलाज न करवाया जाए तो मरीज की मृत्यु भी हो सकती है।

चिकनगुनिया – चिकनगुनिया खासकर बरसात के मौसम में फैलती है। यह बीमारी टाइगर एडीज एल्बोपिक्टस प्रजाति के मच्छरों के काटने से फैलती है। वहीं जोड़ों में दर्द, थकान, ठंड लगना और बुखार आना चिकनगुनिया के कुछ आम लक्षण होते हैं। ये लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करे।

– मॉनसून के मौसम में पानी से फैलने वाला संक्रमण जैसे डायरिया, जौंडिस, हेपेटाइटिस ए, टाइफाइड, हैजा और पेट से जुड़े संक्रमण होने की संभावना बनी रहती है। अधिकांश समय में यह सभी संक्रमण प्रदूषित पानी की वजह से फैलते है। जैसे कि सीवेज पाइप, और गड्ढों में जमा पानी। कंटेनर में जमा हुए इस अनसैनिटरी वॉटर का प्रयोग खाना बनाने और अन्य घरेलू कार्यों को करने में किया जाता है। जिस कारण लोग बीमार हो जाते है और यह बीमारी इंसान को लम्बे समय तक गंभीर रूप से बीमार करने के लिए काफी है।

– वायरल इंफेक्शन-: मॉनसून के मौसम में वायरल इंफेक्शन होने की संभावना अधिक बनी रहती है। इसमें फंगल इंफेक्शन, बैक्टीरियल इनफेक्शन, स्टमक इंफेक्शन और फुट इंफेक्शन शामिल है। वहीं ऐसे इंफेक्शन से आपकी इम्यूनिटी भी प्रभावित हो सकती है। मॉनसून के मौसम में लोग बड़ी संख्या में वायरल डिजीज से प्रभावित हो जाते हैं।

मानसून से जुड़ी समस्याओं से निजात पाने के कुछ जरूरी उपाय -:

– पोषक तत्वों से युक्त सुपरफूड्स का सेवन करें, यह आपके इम्यूनिटी को बूस्ट रखेगा और होने वाली बीमारियों की संभावना को भी कम कर देगा। पूरे शरीर के कपड़े पहनने की कोशिश करें। यह आपके लिए मच्छरों से बचाव का काम करेगा। अपने घर और आसपास गंदगी और बरसात का पानी जमा न होने दे। आसपास के जगहों पर नियमित रूप से फॉगिंग करें।कोशिश करे की मॉनसून में उबला हुआ और साफ-सुथरा पानी पीने की कोशिश करें जिससे डिहाइड्रेशन और डायरिया के खतरे को कम किया जा सके । पौष्टिक भोजन का सेवन करे साफ़ स्वच्छ कपडे पहने , और बार बार हाथ धोना , नियमित रूप से स्नान जैसी बातो का खास ख्याल रखे। बीमारी के लक्षण दिखने पर बिना देर किये तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करे।

 133 total views,  2 views today

Spread the love