Vastu Tips: नए मकान का निर्माण करवाते समय नेगेटिव एनर्जी से छुटकारा पाने के लिए लगवाएं इस तरह के दरवाजे !

Vastu Tips: नए मकान का निर्माण करवाते समय नेगेटिव एनर्जी से छुटकारा पाने के लिए लगवाएं इस तरह के दरवाजे !

इंटरनेट डेस्क। पहले के समय में घरों में हमेशा दो पल्ले के दरवाजे लगाए जाते थे जिससे एक के ऊपर एक पल्ले चढ़ जाता था और मजबूती बनी लेती थी और नकारात्मक ऊर्जा भी घर में प्रवेश नहीं कर पाती थी पहले के समय में दरवाजा लगाते समय नीचे की तरफ भी चौखट लगाई जाती थी। लेकिन अब नीचे की तरफ चौखट नहीं लगाई जाती। नीचे की तरफ लगाए जाने वाली चौखट मैन सरफेस के ऊपर होती है जो आपके घर में नकारात्मक ऊर्जा और ऊपरी प्रेत बाधाओं को प्रवेश करने से रोकती है। मुख्य दरवाजे की सिद्ध में घर के अन्य दरवाजे नहीं होने चाहिए। इस लेख के माध्यम से आपको बताएंगे कि वास्तु शास्त्र के अनुसार यदि आप भी नए घर का निर्माण करवा रहे हैं तो आपको किस तरह के दरवाजे हैं अपने घर में लगवाने चाहिए जिससे आपके घर में सुख शांति बनी रहे। आइए जानते हैं विस्तार से –

* दरवाजों में होनी चाहिए कुंडी :

दरवाजे का निर्माण करवाते समय इस बात का ध्यान रखें कि दरवाजे मैं बीच की कुंडली भी जरूर होनी चाहिए भले ही ऊपर और नीचे हो। यदि आपके घर में कोई दरवाजा दक्षिण पश्चिम में लगा हुआ है और वहां से रोशनी पिया हवा आती है तो भी उस दरवाजे को बंद ही रखें क्योंकि वहां से आने वाली हवाएं हमेशा अपने साथ कई तरह के रोग ले कर आते हैं। जिससे घर के सदस्यों में कमर के नीचे के हिस्सों में परेशानी हो सकती है।

* घर के बीच में स्थित दरवाजे को रखें बंद :

वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि घर के बीच में जो दरवाजा लगा हुआ होता है उसे बंद रखना चाहिए ताकि आपके घर की पॉजिटिव एनर्जी घर में ही रुकी रहे बाहर ना निकले। क्योंकि यदि आपके घर के सभी दरवाजे एक सिद्ध में होंगे तो इसकी आशंका ज्यादा बनी रहती हैं। क्योंकि आपके घर में पॉजिटिव एनर्जी एक दरवाजे से आकर दूसरे दरवाजे से निकल जाती है इसलिए बीच के दरवाजे को बंद रखना चाहिए ताकि आपके घर में पॉजिटिव एनर्जी रहे।

* दरवाजों ओम या स्वास्तिक का चिह्न बनवाए :

आपने देखा होगा कि कई लोग घर के मुख्य दरवाजे जो कि लोहे का बना होता है उसमें बीच में गैप होने के कारण उसमें से बाहर से आने वाली हवा को रोकने के लिए फाइबर शीट का इस्तेमाल करने की बजाय लोग उस जगह में भगवान की तस्वीर लगा देते हैं। उनकी इस गलती की सजा उनको भुगतनी पड़ती है क्योंकि भगवान कोई चौकीदार नहीं है जिसे आप घर के दरवाजे पर बिठा देता है। यदि आप ऐसा कुछ घर के दरवाजे पर लगाना ही चाहते हैं तो आप वहां पर ओम या स्वास्तिक के रूप में कोई शुभ चिन्ह लगा सकते हैं आप अपने घर के मेन दरवाजे मैं जो जगह मौजूद है उसमें मछली का चिन्ह लगा सकते हैं।

* घर के दरवाजे पर लगाएं वंदनवार :

यदि आपके मकान में भी हवा पानी का कोई विकल्प नहीं है तो आप घर के दरवाजों को कुछ ही समय के लिए खोलें अन्यथा उसे बंदी ही रखें घर के दरवाजे में हमेशा डोर क्लोजर लगा हुआ होना चाहिए ताकि दरवाजा अपने आप बंद हो जाए और घर के मुख्य द्वार पर आम के पत्तों से बना बंदनवार जरूर लगाएं और उसे हर हफ्ते बदलते रहे। आप इसकी जगह पर एक अच्छा सा आर्टिफिशियल वंदनवार भी लगा सकते हैं। इस बात का खास ध्यान रखें कि आपके दरवाजे का रंग गहरा होना चाहिए।

 145 total views,  2 views today

Spread the love