• April 25, 2022

जैन मुनि उपाध्याय उर्जयन्त सागर पहुंचे चाकसू के आदिश्वर धाम, स्थानीय जैन समाज के लोगों ने श्रीफल देकर किया अभिनंदन

जैन मुनि उपाध्याय उर्जयन्त सागर पहुंचे चाकसू के आदिश्वर धाम, स्थानीय जैन समाज के लोगों ने श्रीफल देकर किया अभिनंदन

चाकसू। जैन मुनि उपाध्याय उर्जयन्त सागर महाराज का चाकसू के अक्षयनिधि आदिश्वर धाम में मंगल प्रवेश हुआ.स्थानीय जैन समाज के लोगों ने श्रीफल देकर उनका अभिनंदन किया. आदिश्वर धाम में उनके सानिध्य में पंचामृत अभिषेक सहित कई आयोजन किए गए। चाकसू दिगम्बर जैन धर्म के संत वात्सल्य रत्नाकर आचगोरतलब है किा विमल सागर महाराज के अंतिम दीक्षित शिष्य उपाध्याय उर्जयन्त सागर का रविवार को चाकसू के अक्षयनिधि आदिश्वर धाम में मंगल प्रवेश हुआ. इस मौके पर क्षेत्र कमेटी की ओर से पाद प्रक्षालन व मंगल आरती से अगवानी की गई ।

इससे पूर्व जैन संत उर्जयन्त कोथून की ओर से मंगल विहार करते हुए कोटखावदा मोड पहुंचे. जहां कस्बे के जैन धर्मावलंबियों ने अगवानी की. वे जुलूस के रूप में आदिश्वर धाम पहुंचे, जहां मंदिर दर्शन के बाद धर्म सभा में प्रवचन हुए. इस मौके पर क्षेत्र अध्यक्ष मुकेश जैन चौकडायत, महामंत्री प्रवीण शाह, धनपाल जैन लुहारा वाले, विमल काला, राजीव गंगवाल एवं जयपुर के मनोज सोगाणी पहाड़ी वाले, जैन सोश्यल ग्रुप मेट्रो जयपुर के सचिव नरेश बाकलीवाल, राजेन्द्र रावंका, सत्येन्द्र पाण्ड्या, राजेश जैन सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे।

अभादिजैन परिषद के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य एवं प्रदेश महामंत्री विनोद जैन ‘कोटखावदा’ के अनुसार आदिश्वर धाम में जैन संत उपाध्याय के सानिध्य में भगवान मुनिसुव्रतनाथ का ज्ञान कल्याणक महोत्सव मनाया गया. इस मौके पर मंत्रोच्चार के साथ आचार्य विमल सागर महाराज के पंचामृत अभिषेक सहित कई आयोजन किये गये. शाम को उपाध्याय ने चाकसू से शिवदासपुरा के लिए विहार किया. रात्रि विश्राम टोल प्लाजा के पास होगा.गौरतलब है कि 25 अप्रैल को सुबह बीलवा के नांगल्या स्थित विमल परिसर के दिगम्बर जैन मंदिर में मंगल प्रवेश होगा, जहां अभिषेक, शांतिधारा के बाद पूजा-अर्चना और आहार चर्या के बाद सामायिक आदि के आयोजन किये जायेंगे

 1,571 total views,  4 views today

Spread the love