• August 10, 2022

गिरफ्त में आते ही गालीबाज श्रीकांत त्यागी की निकली हेकड़ी, कहा.. वह मेरी बहन…

गिरफ्त में आते ही गालीबाज श्रीकांत त्यागी की निकली हेकड़ी, कहा.. वह मेरी बहन…

इंटरनेट डेस्क। नोएडा का ‘गालीबाज’ श्रीकांत त्यागी आखिरकार मंगलवार को पुलिस के हत्थे चढ़ गया. पुलिस ने मेरठ से गिरफ्तार कर उसे देर शाम गौतमबुद्ध नगर की जिला अदालत में पेश किया. जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. श्रीकांत त्यागी (Shrikant Tyagi) ने अदालत से ले जाते समय कहा कि मैं घटना पर खेद व्यक्त करता हूं। वह महिला मेरी बहन की तरह है, यह घटना राजनीतिक है और मुझे राजनीतिक रूप से खत्म करने के लिए की गई थी।

इससे पहले तक आरोपी नोएडा पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती बन गया था. नोएडा पुलिस ने उस पर 25 हजार का इनाम घोषित करना पड़ा. अब उसे गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को 3 लाख का इनाम देने का ऐलान किया गया है. कानून का शिकंजा कसते ही नोएडा के गालीबाज ने नेता श्रीकांत त्यागी की सारी हेकड़ी निकलने के साथ ही सुर भी बदल गए हैं। कल तक वह सोसाइटी की जिस महिला को गालियां देकर अपना रौब झाड़ रहा था, अब वह उसे अपनी बहन बता रहा है। इतना ही नहीं, इस घटना को एक राजनीतिक साजिश करार दे रहा है।

नोएडा पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि श्रीकांत त्यागी को आज सुबह उसके तीन साथियों के साथ मंगलवार को मेरठ से गिरफ्तार किया गया था। पुलिस द्वारा श्रीकांत त्यागी (Shrikant Tyagi) से गहनता से पूछताछ की जा रही है कि उसे फरार रहने के दौरान किस-किस ने शरण दी थी। कमिश्नर ने बताया कि त्यागी ने एक कार पर विधायक का स्टिकर लगाकर अपनी पहचान गलत तरीके से पेश की थी और यह स्टीकर उसे समाजवादी पार्टी (सपा) के नेता स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) ने दिया था। उन्होंने कहा कि श्रीकांत त्यागी (Shrikant Tyagi) का सहयोगी रहा है और ये स्टिकर उसे स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) ने दिए थे। पुलिस ने त्यागी की पांच कारों को जब्त कर लिया है।

 371 total views,  2 views today

Spread the love