• August 12, 2023

Astrology News: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस तरह स्नान करने से दूर होते हैं कुंडली के सभी ग्रह दोष !

Astrology News: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस तरह स्नान करने से दूर होते हैं कुंडली के सभी ग्रह दोष !

ज्योतिष शास्त्र में कुंडली का खास होता है किसी भी व्यक्ति की कुंडली से उसके ग्रहों के शुभ और राशिफल के बारे में आसानी से पता लगाया जा सकता है ग्रहों की स्थिति मजबूत होती है तो व्यक्ति के जीवन में सुख बना रहता है और यदि किसी ग्रह की स्थिति ठीक नहीं होती है तो व्यक्ति को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। ग्रहों की स्थिति के बारे में पता लगाने के बाद उनसे जुड़े हुए दोष को दूर करने के लिए लोगों के द्वारा पूजा-पाठ और रक्त में तथा अनुष्ठान आदि पर विशेष बल दिया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि स्नान के दौरान ग्रहों से जुड़ी हुई जड़ी बूटियों को पानी में मिलाकर नहाने से ग्रह दोष को दूर किया जा सकता है आइए इस लेख के माध्यम से आपको बताते हैं कौन से दोस्त के लिए किस तरह की जड़ी बूटी से स्नान करना शुभ होता है। आइए जानते है विस्तार से –

* चंद्रमा दोष :

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बताया जाता है यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में चंद्रमा की दशा ठीक नहीं होती है तो उसे अपनी कुंडली के चंद्र दोष को ठीक करने के लिए सफेद चंदन और सफेद फूल, पंचगंध, शंख, सीप और गुलाब आदि चीजों को पानी में मिलाकर नियमित रूप से रोजाना स्नान करना चाहिए।

* मंगल दोष :

आपको बता दें कि मंगल दोष की वजह से जीवन में सभी मंगल होने लगता है और परेशानियां दूर होने का नाम नहीं लेती है अगर आप भी इस समस्या से परेशान हैं तो आप नहाने के पानी में लाल फूल और लाल चंदन, बिल्छ की छाल मिलाएं और इस पानी से रोजाना स्नान करें।

* सूर्य दोष :

यदि किसी जातक की कुंडली में सूर्य ग्रह की स्थिति ठीक नहीं होती है तो इसकी वजह से उससे सूर्य दोष का सामना करना पड़ता है ऐसे में पीड़ित व्यक्ति को नहाने के पानी में इलायची, केसर, कनेर और देवदारू मिलना चाहिए।

* बुध दोष :

अगर आपके जीवन में बुध दोष की वजह से समस्याएं आ रही हैं तो आप इसके लिए नहाने के पानी में नियमित रूप से रोजाना चावल, जायफल, विधारा और शहद को मिलाए। इस उपाय को करने से कुंडली में बुध की स्थिति ठीक होने लगती है।

* गुरु दोष :

यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में बृहस्पति दोष होता है तो उसे पीली सरसों, पीले फूल, गूलर और शहद हर रोज पानी में मिलाकर नहाना चाहिए। ऐसा करने से कुंडली में गुरु की स्थिति मजबूत होने लगती है।

* शुक्र दोष :

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार बताया जाता है अगर व्यक्ति की कुंडली में शुक्र ग्रह मजबूत होता है तो जीवन में सुखी रहता है यदि इस ग्रह की स्थिति कमजोर हो जाती है तो कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है शुक्र दोष को दूर करने के लिए पीड़ित व्यक्ति को नहाने के पानी में रोजाना जायफल, इलायची और केसर मिलाकर नहाना चाहिए।

* शनि दोष :

कुंडली में शनि की स्थिति मजबूत करने के लिए व्यक्ति को नियमित रूप से रोजाना और खासकर शनिवार के दिन नहाने के पानी में सरसों, काला तिल, लोबान जरूर मिलाना चाहिए

 203 total views,  2 views today

Spread the love