• November 30, 2023

Health Care Tips: हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार जानिए क्या होता है साइलेंट हार्ट अटैक, किस तरह करें इसकी पहचान !

Health Care Tips: हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार जानिए क्या होता है साइलेंट हार्ट अटैक, किस तरह करें इसकी पहचान !

देखा जा रहा है कि बीते कुछ सालों में युवा वर्ग में हार्ट अटैक के मामले काफी ज्यादा बढ़ते जा रहे हैं खास तौर पर डांस करते समय और जिम में दिल का दौरा पड़ने की घटनाएं बढ़ती जा रही है। ऐसे में डॉक्टर का कहना है कि अचानक आ रहे हार्ट अटैक एक तरह के साइलेंट हार्ट अटैक है। इनमें पीड़ित व्यक्ति को दिल की बीमारी के कोई शुरुआती लक्षण दिखाई नहीं देते हैं लेकिन शरीर के अंदर हार्ट के फंक्शन पूरी तरह बिगड़ जाते हैं और अचानक से व्यक्ति को हार्ट अटैक आता है। ऐसी स्थिति में अगर पीड़ित व्यक्ति को तुरंत इलाज ना मिले तो व्यक्ति की मौत हो जाती है ऐसे में अब यह सवाल भी उठना है कि दिल का दौरा पड़ने की यह घटना अचानक कैसे हो रही है और किन लोगों में इसका ज्यादा खतरा रहता है। आइए इस लेख के माध्यम से जानते है इसके बार में विस्तार से –

हेल्थ एक्सपर्ट बताते हैं कि अचानक हैवी वर्कआउट करने या फिर डांस करने के दौरान हार्ट की आर्टरीज में मौजूद ब्लड क्लॉट टूट जाता है इस वजह से हार्ट अटैक आता है या फिर कार्डियक अरेस्ट हो जाता है। यह सब कुछ कुछ ही मिनट में हो जाता है अगर इस दौरान पीड़ित व्यक्ति को तुरंत इलाज नहीं मिलता है तो उसकी मौके पर ही मौत होने का भी खतरा रहता है। डॉक्टर से बताते हैं कि जिन लोगों में हाई ब्लड प्रेशर और डायबिटीज की बीमारी होती है या फिर जो लोग ज्यादा मात्रा में धूम्रपान करते हैं उन लोगों में इस तरह की दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा ज्यादा होता है। क्योंकि ऐसे लोगों की दिल की नसों में खून के थक्के बन जाते हैं जो बाद में हार्ट अटैक का कारण बनते हैं। बता दे कि कई मामलों में यह हार्ट अटैक आने से पहले कोई भी लक्षण नहीं दिखाई देते हैं इसको ही साइलेंट हार्ट अटैक कहा जाता है।

* किस तरह करें साइलेंट हार्ट अटैक की पहचान :

हेल्थ एक्सपर्ट बताते हैं कि कॉर्डियक सीटी स्कैन की मदद से साइलेंट हार्ट अटैक की पहचान की जा सकती है। ये जांच ईसीजी से काफी बेहतर होती है. क्योंकि साइलेंट ब्लॉकेज में ईसीजी सामान्य हो सकता है। ऐसे में साइलेंट हार्ट अटैक की पहचान नहीं हो पाती है।

* इन लोगों को रखना चाहिए खास ध्यान :

एक्सपर्ट के अनुसार हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, धूम्रपान, हाई कोलेस्ट्रॉल और मोटापा की परेशानी से पीड़ित लोगों को साइलेंट हार्ट अटैक का खतरा काफी ज्यादा होता है। अगर आपको भी पहले से ही ऐसी परेशानी है तो आपको नियमित रूप से हार्ट की जांच करानी चाहिए. इसके लिए आप लिपिड प्रोफाइल टेस्ट कराएं। बता दें की जो लोग डायबिटीज से पीड़ित हैं वह हार्ट डिजीज की पहचान के लिए सीटी कैल्शियम स्कोर टेस्ट करा सकते हैं।

 72 total views,  2 views today

Spread the love