जानिए कैसे हुई आधार कार्ड की शुरुआत

जानिए कैसे हुई आधार कार्ड की शुरुआत

आज आधार कार्ड हमारे जीवन का अहम हिस्सा बन गया है ,आज स्कूल में एडमिशन से लेकर बड़े से बड़े काम में आधार कार्डआईडी प्रूफ के तोर पर मांगे जाने वाला पहला डॉक्यूमेंट होता है , आधार कार्ड छोटे से बच्चे का भी बनवाया जाता है पहचान पत्र के आधार 12 अंकों की विशिष्ट संख्या है। जो की भारत सरकार की इकाई भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI), की तरफ से जारी किया जाता है।

इसका इस्तेमाल आप पहचान पत्र के रूप में पूरे देश में कहीं भी कर सकते हैं। फिर चाहे कही घूमना हो खाता खुलना हो हो जॉब करना हो आधार कार्ड बेहद जरूरी होता है। ये तो हम सभी जानते है लेकिन कभी कभी हमारे मन में सवाल आते है की आधार कार्ड की शुरुआत कैसे हुई तो आइये जानते आधार कार्ड की शुरुआत कैसे हुई और कब हुईइसे शुरू करने में किसकी अहम भूमिका रही ।

आधार कार्ड की शुरुआत :-

हमे यह पता होना चाहिए की हर जगह आईडी प्रूफ के तोर पर काम आने वाले आधार कार्ड की शुरुआत कैसे हुई,कब हुई और इसमें किसकी अहम भूमिका रही तो बता दें कि आधार कार्ड की शुरुआत 28 जनवरी 2009 को हुई थी, इसके पीछे इन्फोसिस के कोफाउंडर नंदन निलेकणी की अहम भूमिका रही है। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण की वेबसाइट के तहत , जनवरी 2020 तक लगभग 1.253 अरब लोगों को आधार कार्ड जारी किये हैं। वहीं अगस्त 2019 तक सरकार इसके लिए लगभग 11,366 करोड़ रुपये जारी कर चुकी

 606 total views,  2 views today

Spread the love