• May 2, 2023

मां काली की अभद्र फोटो ट्वीट करने पर यूक्रेन ने जताया खेद, कहा…

मां काली की अभद्र फोटो ट्वीट करने पर यूक्रेन ने जताया खेद, कहा…

इंटरनेट डेस्क। यूक्रेन (Ukraine) के रक्षा मंत्रालय के ट्विटर अकाउंट पर मां काली की एक विकृत तस्वीर को पोस्ट करने के मामले में यूक्रेन के विदेश मामलों की उप मंत्री एमिन झापरोवा (Emine Dzhaparova) ने ट्वीट करके खेद जताया है. झापरोवा ने कहा कि ‘हम यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय के ट्विटर पर हिंदू देवी काली (Hindu goddess Kali) को विकृत तरीके से चित्रित करने के लिए खेद व्यक्त करते हैं. यूक्रेन और उसके लोग भारतीय संस्कृति का सम्मान करते हैं और भारत के समर्थन की अत्यधिक सराहना करते हैं. उस चित्र को पहले ही हटा दिया गया है.’ यूक्रेन (Ukraine) के रक्षा मंत्रालय के इस ट्वीट के बाद से सोशल मीडिया यूजर्स ने जमकर गुस्सा जाहिर किया था.

सोशल मीडिया पर यूजर्स का गुस्सा फूटने के बाद आनन-फानन में यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय उस ट्वीट को हटा लिया. यूक्रेन (Ukraine) के रक्षा मंत्रालय का ये ट्वीट देखते ही देखते वायरल हो गया था. यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ‘work of art’ कैप्शन के साथ इस फोटो को शोयर किया था. जिसमें हिंदू देवी काली को अजीब तरीके से दिखाया गया था. जो कुछ हद तक हॉलीवुड की अभिनेत्री मर्लिन मुनरो की एक प्रसिद्ध तस्वीर की से मिलती-जुलती थी. इसके बाद प्रसारण और सूचना मंत्रालय के वरिष्ठ सलाहकार कंचन गुप्ता ने लिखा कि ‘हाल ही में यूक्रेन (Ukraine) की उप विदेश मंत्री दिल्ली में थीं और भारत से समर्थन मांग रहीं थीं. अब यूक्रेन (Ukraine) सरकार ने भारतीय देवी मां काली को एक प्रचार पोस्टर में दिखाया है. यह दुनिया भर में हिंदू भावनाओं पर हमला है.’

यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय की इस हरकत से भारत में नाराज ट्विटर यूजर्स ने सोशल प्लेटफॉर्म के सीईओ एलोन मस्क (Elon Musk) और भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर (S Jaishankar) को टैग कर उनसे इस मामले पर सख्त कार्रवाई करने का आग्रह किया. एक यूजर ने यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय के ट्वीट के जवाब में कहा कि ‘यही कारण है कि आप लोगों को भारत से कोई समर्थन नहीं मिल रहा है.’ गौरतलब है कि पूर्वी यूरोपीय देश यूक्रेन पर हमला करने के कारण रूस पर पश्चिमी देशों ने कई प्रतिबंध लगाए हैं. मगर भारत ने पश्चिमी देशों का साथ देने से मना करते हुए एक कूटनीतिक रुख अपनाया है. जिसमें किसी पक्ष का समर्थन नहीं करने की बात कही गई है. इसके कारण पश्चिमी खेमे के नेताओं को बहुत निराशा हुई है.

 166 total views,  2 views today

Spread the love