Vastu Tips: वास्तु शास्त्र के अनुसार करें ये उपाय आपके घर में जल्द बजेगी शहनाई !

Vastu Tips: वास्तु शास्त्र के अनुसार करें ये उपाय आपके घर में जल्द बजेगी शहनाई !

वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि खरमास के समापन और सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने के बाद से मांगलिक कार्यक्रम शुरू हो जाते हैं और ऐसे में युवक-युवतियों के अभिभावकों के मन में भी अपने घर में शहनाई गूंजने की अपेक्षा करना सामान्य बात होती है। देखा जाता है कि लड़का हो या लड़की सही उम्र में इनका विवाह नहीं होने से हर माता-पिता परेशान रहते हैं। हर माता-पिता की यही ख्वाहिश होती है कि उनके बेटे बेटी का समय से विवाह हो जाए और वह जल्द से जल्द दादा दादी और नाना नानी बनने का सुख ले सकें। कई बार देखा जाता है किबेटे – बेटी के सुंदर होने और आर्थिक स्थिति मजबूत होने के बाद भी उनका विवाह नहीं हो पाता है अगर आपके साथ भी ऐसी ही स्थिति है तो आप विवाह में आ रही बाधा को दूर करने के लिए वास्तु शास्त्र में बताए गए यह आसान उपाय कर सकते हैं। आइए जानते है विस्तार से –

* वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि जो माता सोचती है कि उनकी पुत्रवधू सुंदर सुशील और होशियार तथा घर को संभालने वाली हो तो इसके लिए इन माताओं को गुरुवार शुक्रवार वर रविवार के दिन देवी मां के सामने घी का दीपक जलाना चाहिए और समय-समय पर छोटी कन्याओं को बेटे की सैलरी से भोज करवाना चाहिए ऐसा करने से निश्चित ही आपके घर में आपकी अपेक्षाओं के अनुरूप बहू आती है।

* वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि शुक्रवार के दिन युवाओं को देवी दर्शन के लिए किसी मंदिर में जरूर जाना चाहिए और उन्हें सफेद फूल तथा रसीली मिठाई के साथ ही यदि कोई देवी का अवसर हो तो चमकीले वस्त्र भी जरूर भेंट करने चाहिए। इस प्रक्रिया को शुक्रवार से प्रारंभ करने से जल्दी ही आपके विवाह में आ रही बाधा दूर होने लगती है और आपके लिए विवाह के अच्छे प्रस्ताव आने लगते हैं।

* जिस युवा के विवाह में बाधा आ रहे हैं उन युवाओं को किसी सिद्ध पीठ देवी के दर्शन के लिए जरूर जाना चाहिए साथ ही उनसे प्रार्थना भी करनी चाहिए यदि किसी जरूरतमंद कन्या के विवाह में मदद कर सके तो आपको इसके बहुत ही अच्छे परिणाम मिलते हैं।

* वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि यदि आपकी भी बेटी के रिश्ते की बात बनते बनते रह जाती है या फिर बहुत कोशिश करने के बाद भी उचित वर्ग नहीं मिल पा रहा है तो बृहस्पतिवार के दिन आपको व्रत करना चाहिए और इस दिन पहले वस्त्र और तिलक तथा पीले रंग के बने खाद्य पदार्थ का ही सेवन करना चाहिए इस बात का ध्यान रखें कि केले के पेड़ की पूजा करने के उपरांत इस फल को खाना नहीं चाहिए।

 54 total views,  2 views today

Spread the love