• June 16, 2022

Agneepath scheme protest:: अग्निपथ स्कीम को लेकर सड़क पर उतरे छात्र, रेल ट्रैक किया जाम

Agneepath scheme protest:: अग्निपथ स्कीम को लेकर सड़क पर उतरे छात्र, रेल ट्रैक किया जाम

सेना में भर्ती के लिए लाई गई ‘अग्निपथ स्कीम’ का विरोध तेज हो गया है. राजनीतिक दलों के साथ-साथ आम युवा भी इसका विरोध जता रहे हैं. खासकर बिहार में बवाल बढ़ता जा रहा है. इसके अलावा गुरुग्राम में भी आज प्रदर्शन हुआ है. आज बिहार के जहानाबाद, बक्सर में छात्रों ने बवाल किया है. वहां छात्रों ने सड़कों को जाम किया और आगजनी भी हुई. छात्रों ने जहानाबाद में NH-83 और NH-110 जाम कर आगजनी की.सेना में बहाली के सरकार द्वारा शुरू की गई अग्निपथ स्कीम के विरोध में आरा में छात्रों का उग्र प्रदर्शन आज दूसरे दिन भी जारी है. अग्निपथ के विरोध में छात्रों ने आरा में रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया है. छात्र केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर प्रदर्शन कर रहे हैं. सड़क से लेकर रेलवे ट्रक तक छात्रों उग्र प्रदर्शन जारी है.

— “अग्निपथ” स्कीम के विरोध गुरुग्राम में भी हो रहा है. गुरुग्राम में दिल्ली-जयपुर हाइवे को जाम किया गया है. बिलासपुर थाना क्षेत्र से लगते एनएच 48 को सैकड़ों युवाओं ने जाम किया है. युवाओं का कहना है कि पिछले 3 साल से फौज में भर्ती नहीं की गई है और अब सिर्फ 4 साल की भर्ती की जाएगी.इससे पहले बक्सर, मुजफ्फरपुर, गया में भी विरोध हुआ था. सेना में चार साल की भर्ती वाली इस स्कीम से नाराज युवाओं ने कल पत्थरबाजी भी की थी.

बिहार के बक्सर जिले में रेल यातायात और सड़क ट्रैफिक बाधित किया गया था. बक्सर में करीब 100 युवाओं ने रेलवे स्टेशन पर विरोध किया था. इसकी वजह से ट्रेन सर्विस भी बाधित हुई थी. प्रदर्शन की वजह से जनशताब्दी एक्सप्रेस करीब 30 मिनट लेट हो गई थी. बक्सर में आज भी प्रदर्शन जारी है.

 

क्या है अग्निपथ स्कीम?

भारतीय सेना में पहली बार ऐसी कोई स्कीम लॉन्च की गई है, जिसमें शॉर्ट टर्म के लिए सैनिकों की भर्ती की जाएगी. इस योजना के तहत हर साल करीब 40-45 हजार युवाओं को सेना में शामिल किया जाएगा. ये युवा साढ़े 17 साल से 21 साल की उम्र के बीच के होंगे.

-ये भर्तियां मेरिट और मेडिकल टेस्ट के आधार पर की जाएंगी.
-इन चार वर्षों में सैनिकों को 6 महीने की बेसिक मिलिट्री ट्रेनिंग दी जाएगी.
-30-40 हजार मासिक वेतन के साथ अन्य लाभ भी दिए जाएंगे.
-पहले साल में 30 हजार, दूसरे साल में 33 हजार, तीसरे साल में 36500 और चौथे साल में 40 हजार मासिक वेतन दिया जाएगा.
-चार साल पूरे होने के बाद इन सभी अग्निवीरों की सेवा समाप्त हो जाएगी और फिर नई भर्तियां की जाएंगी.
-सेवा समाप्त होने वाले 25 फीसदी अग्निवीरों को स्थायी काडर में भर्ती किया जाएगा.

 493 total views,  2 views today

Spread the love