Health Care Tips: अगर आप भी रिफाइंड ऑयल का करते हैं सेवन तो हो जाएं सावधान, हो सकते है बीमार !

Health Care Tips: अगर आप भी रिफाइंड ऑयल का करते हैं सेवन तो हो जाएं सावधान, हो सकते है बीमार !

वर्तमान समय में देखा जाता है कि लोगों की खानपान की आदतों में काफी बदलाव आने लगा है। पहले के समय में लोग सरसों या घी जैसे फायदेमंद तेल का इस्तेमाल करते थे लेकिन अब देखा जाता है कि लोग रिफाइंड तेल का प्रयोग करने लगे हैं। क्योंकि रिफाइंड तेल का प्रयोग सुविधाजनक लगता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। बता दें की रिफाइंड ऑयल में ट्रांस-फैटी एसिड, रसायन और कैंसरकारक तत्व होते हैं। इसका सेवन करने से हृदयरोग, मोटापा, उच्च रक्तचाप और कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इसीलिए हेल्थ एक्सपर्ट बताते हैं कि रिफाइंड तेल का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए इसकी जगह आपको कच्चे तेल जैसे सरसों, तिल या नारियल का तेल का प्रयोग करना चाहिए। आइए इस लेख के माध्यम से जानते है रिफाइंड तेल का सेवन करने से होने वाले नुकसान –

* दिल की सेहत के लिए नुकसानदायक :

आपको बता दें कि रिफाइंड ऑयल को हाई टेंपरेचरपर तैयार किया जाता है। जिसकी वजह से इसमें मौजूद सभी पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। बता दें की रिफाइनिंग की प्रक्रिया में ऑयल से विटामिन E, प्रोटीन और अन्य एंटीऑक्सीडेंट्स नष्ट हो जाते हैं. और इसमें ट्रांस फैट और सैचुरेटेड फैट की मात्रा बढ़ जाती है जो हमारी सेहत के लिए हानिकारक होते हैं। यह हमारी बॉडी में बेड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ाकर दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ा देता है। इसलिए रिफाइंड ऑयल का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।

* शरीर में हो जाती है प्रोटीन की कमी :

हेल्थ एक्सपर्ट बताते हैं कि कच्चे तेल में स्वाभाविक रूप से मौजूद गंध और प्रोटीन तत्वों को रिफाइनिंग की प्रक्रिया के दौरान हटा दिया जाता है इस प्रक्रिया से तेल की गंध और स्वाद में तो बेहतर हो जाता है लेकिन प्रोटीन और अन्य पोषित तत्वों की मात्रा कम हो जाती है। प्रोटीन कम मात्रा में होने की वजह से रिफाइंड ऑयल का नियमित सेवन शरीर में प्रोटीन की कमी का कारण बन सकता है।

* नहीं मिलता है हेल्दी फैट :

आपको बता दें की रिफाइनिंग की प्रक्रिया में ऑयल से मोनोअनसैचुरेटेड और पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड जैसे हेल्दी फैट्स को निकाल दिया जाता है। इसलिए रिफाइंड ऑयल का नियमित सेवन हृदय रोग और टाइप 2 डायबिटीज का खतरे को बढ़ा देता है।

* त्वचा के लिए हानिकारक रिफाइंड ऑयल :

हेल्थ एक्सपर्ट बताते हैं कि रिफाइंड तेल में विटामिन ई और एंटीऑक्सीडेंट गुण नहीं होते हैं। यह दोनों ही पोषक तत्व हमारी त्वचा के लिए फायदेमंद होते हैं इसके साथ ही रिफाइंड तेल में ट्रांसफैट और फैटी एसिड पाया जाता है जो हमारी त्वचा में नमी को कम कर देता है जिसकी वजह से त्वचा में रूखापन और झुर्रियों की समस्या होने लगती है।

 130 total views,  4 views today

Spread the love