• December 4, 2023

चाकसू विधानसभा से भाजपा के रामवतार बेरवा ने पिछली हार का लिया ऐतिहासिक बदला

चाकसू विधानसभा से भाजपा के रामवतार बेरवा ने पिछली हार का लिया ऐतिहासिक बदला

चाकसू। चाकसू विधानसभा में इस बार भाजपा के रामवतार बेरवा ने अपनी पिछली हार का बदला आखिर कांग्रेस से ले लिया और वेदप्रकाश सोलंकी को 49380 मतों से पराजित कर दिया जो बेरवा की सबसे बड़ी ऐतिहासिक विजय है । गौरतलब है कि कामर्स कॉलेज में 12 टेबल पर 20 राउंड में गिनती हुई और पहले राउंड से ही बेरवा ने बढ़त बढ़ा ली ज्यो राउंड बढ़ते गए उसी के साथ बेरवा की बढ़त बढ़ती गयी इस दौरान भाजपा के प्रधान कार्यलय पर हजारों कार्यकर्त्ताओ की भीड़ उमड़ पड़ी पटाखे छोड़कर ख़ुर्शी का जश्न मनाया गया । भाजपा के बेरवा को विजय होने पर रिटरिंग अधिकारी गुलाब सिंह वर्मा ने जीत का प्रमाण पत्र दिया उसके बाद विधायक बेरवा चाकसू पहुंचे तो उनके साथ सेकड़ो कार्यकर्ताओ की गाड़ियों का काफिला साथ विधायक बेरवा को जगह – जगह रोककर भव्य स्वागत किया ओर वो जैसे चाकसू पहुंचे तो उनके समर्थकों ने कंधे पर बैठाकर विजय जुलूस निकाला ।

मुख्य बाजार में भी समर्थकों ने पटाखे छोड़े ओर मिठाइयों का वितरण किया । यंहा उल्लेखनीय है कि चाकसू विधानसभा में 230972 मतदाताओं में 174794 मतदाताओं में 75.68प्रतिशत मतदान किया इनमे भाजपा के बेरवा को 104064 व कॉंग्रेस के सोलंकी को 54684 मत , आरएलपी के खोलिया को 14068 , बसपा के अनुज कुमार को 1350 , निर्दलीय रामवतार बेरवा को 1244 मत मिले । गोरतलब है कि 2018 के चुनाव में कांग्रेस के सोलंकी ने भाजपा के बेरवा को 3400 मतों से पराजित किया है ।चाकसू विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के रामावतार बैरवा ने कांग्रेस के वेदप्रकाश सोलंकी को भारी मतों से हरा कर रिकार्ड स्थापित कर दिया है। रामावतार बैरवा ने 49174 मतों के भारी अंतर से कांग्रेस प्रत्याशी वेदप्रकाश सोलंकी को पराजित करते हुए ऐतिहासिक जीत दर्ज की है। निर्वाचन अधिकारी कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार रामावतार बैरवा के पक्ष में 103140 मत आए हैं तो निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस प्रत्याशी वेदप्रकाश सोलंकी के पक्ष में 53966 वोट ही मिले हैं। शेष तीन उम्मीदवार अपनी जमानत भी नहीं बचा सके। चाकसू निर्वाचन अधिकारी गुलाब सिंह वर्मा ने जयपुर में ही रामावतार बैरवा के चाकसू विधानसभा क्षेत्र से निर्वाचित होने पर निर्वाचन प्रमाण पत्र देकर शुभकामनाएं देते हुए बधाई दी।

रविवार को सवेरे से ही भाजपा कार्यालय पर भाजपा पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं की भीड़ लगी हुई थी पल पल की खबर बड़ी ए ई डी स्क्रीन पर मिल रही थी ।जैसे जैसे जीत के रुझान मिल रहे थे कार्यकर्ताओं का जोश, नारेबाजी बढ़ रही थी। भाजपा जिंदाबाद, भारत माता एवं वंदेमातरम् के जयघोष, मोदी मोदी के जयकारों से माहौल गूंज उठा। आतिशबाजी के साथ लड्डू बंटने लगे। परस्पर बधाईयां दी जाने लगी।जीत की सूचना के साथ ही बाजार में भाजपा पार्षद विनोद राजोरिया ने पटाखे छोड़े, एवं मिठाईयां बांटते हुए खुशी व्यक्त की। विधानसभा क्षेत्र में बूथ केंद्रों से खुशी एवं मिठाईयां बांटने के समाचार है। तीन राज्यों में भाजपा की जीत का जश्न आतिशबाजी एवं मिठाईयां वितरण कर मनाया गया। दिन भर बूंदाबांदी एवं सर्द हवाओं के चलते एवं प्रशासनिक पाबंदी के चलते जुलूस आदि नही निकाले गए।

 

इन वजहों से जीत हुई भाजपा की
इस बार के चुनाव में भाजपा के बेरवा की सादगी , पिछली चुनाव हार की सहानुभूति , स्थानीय का होना , एन वक्त पर कांग्रेस के पुर्व विधायक अशोक तंवर का भाजपा में सेकड़ो समर्थकों के साथ आना , मुस्लिम वोटरों का भाजपा के समर्थन में खुलकर आना , यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य , पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे , राज्य सभा सांसद डॉ किरोड़ी की बड़ी सभा , कॉंग्रेस के प्रत्याक्षी की तुलना में जल्दी टिकट मिलना सहित कई वजहों से कांग्रेस के वेदप्रकाश सोलंकी का विकास बुरी तरह पराजित हो गया है ।

कांग्रेस को एक भी राउंड में नही मिली बढ़त
चाकसू विधानसभा में 236 मतदान केंद्रों की 20 राउंड में गिनती हुई लेकिन कांग्रेस को किसी भी राउंड में बढ़त नही मिली जबकि 2018 के चुनाव से कांग्रेस को करीब 18 हजार व आरएलपी को 4 हजार मत कम मिले है ।

आखिर क्यों पिछड़ी कांग्रेस
आखिर इस बार के चुनाव के कांग्रेस इतनी बड़ी हार से क्यो पराजित हुई इसके पीछे राजनीतिक नेताओ का कहना है कॉंग्रेस की ओर से सचिन पायलट को दूर करने से गुर्जर वोट पि…

 76 total views,  4 views today

Spread the love