• August 28, 2022

नोएडा का ‘ट्विन टॉवर’ कुछ इस तरह हो जाएगा ज़मींदोज़, बिल्डिंग में भरा 3700 किलो बारूद

नोएडा का ‘ट्विन टॉवर’ कुछ इस तरह  हो जाएगा ज़मींदोज़, बिल्डिंग में भरा 3700 किलो बारूद

इंटरनेट डेस्क। भ्रष्टाचार की बुनियाद पर खड़े सुपरटेक बिल्डर के ट्विन टावर (एपेक्स और सियान) रविवार दोपहर ढाई बजे जमींदोज हो जाएंगे। करोड़ों की लागत से बनी इन इमारत को गिराने के लिए लड़ी गई लड़ाई के लिए सोसाइटी के 400 फ्लैट मालिकों ने चंदा जुटाया। देश में इससे पहले इतनी ऊंची इमारत नहीं गिराई गई है। ऐसे में यह ध्वस्तीकरण ऐतिहासिक होगा। बता दे की नोएडा में बने 32 मंजिला ट्विन टावर रविवार दोपहर ढाई बजे गिरा दिए जाएंगे। 13 साल में बनी दोनों इमारतें टूटने में सिर्फ 12 सेकेंड लगेंगे। कुतुब मीनार से ऊंचे ट्विन टावर से ठीक 9 मीटर दूर सुपरटेक एमरेल्ड सोसायटी है। यहां 650 फ्लैट्स में करीब 2500 लोग रहते हैं।

 

देश भर में ज्यादातर लोग देखना चाहते हैं कि ट्विन टावर कैसे टूटेंगे, लेकिन आसपास रहने वालों को डर है कि उनके घर कैसे बचेंगे। बता दे की घर बच भी गए तो टावर के मलबे से निकली धूल से कैसे बचेंगे। ये जगह सेक्टर-93 में है और नोएडा के महंगे एरिया में शामिल है। यहां 3BHK फ्लैट की कीमत करीब एक करोड़ रुपए है।

 

रिपोर्ट्स के अनुसार आपको बता दे की ट्विन टावर गिराने का जिम्मा एडिफाइस नाम की कंपनी को मिला है। ये काम प्रोजेक्ट मैनेजर मयूर मेहता की निगरानी में हो रहा है। वे बताते हैं कि हमने बिल्डिंग में 3700 किलो बारूद भरा है। पिलर्स में लंबे-लंबे छेद करके बारूद भरना होता है। फ्लोर टु फ्लोर कनेक्शन भी किया जा चुका है।

 311 total views,  2 views today

Spread the love