• June 18, 2022

‘अग्निपथ’ योजना का विरोध: फायरिंग में छात्र की मौत, तेलंगाना सरकार देगी 25 लाख रुपये मुआवजा

‘अग्निपथ’ योजना का विरोध: फायरिंग में छात्र की मौत, तेलंगाना सरकार देगी 25 लाख रुपये मुआवजा

नई दिल्ली। अग्निपथ योजना (Agneepath scheme) के विरोध में बिहार, यूपी, उत्तराखंड, राजस्थान, हरियाणा और तेलंगाना समेत कई राज्यों में प्रदर्शन हुए. इनमें से कई जगहों पर प्रदर्शन हिंसक हो गए. तेलंगाना के सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार को भारी बवाल हुआ. यहां एक ट्रेन में आग लगा दी गई. साथ ही काफी तोड़फोड़ की गई थी. विरोध प्रदर्शन के दौरान कुल 17 राउंड फायरिंग हुई है. इसमें एक शख्स की मौत भी हो गई है. वहीं 13 लोग घायल हुए हैं. बिहार में आज बंद की घोषणा की गई है।

 

वहीं तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (Chandrashekhar Rao) ने सिकंदराबाद में हुई घटना के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया. मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी की गई प्रेस रिलीज में कहा गया है कि मोदी सरकार द्वारा अपनाई गई गलत नीति की वजह से देश में व्यापक आंदोलन हुए. सीएमओ की ओर से बताया गया है कि प्रदर्शनकारी डी राकेश के लिए 25 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा होगी. इसके अलावा परिवार के लिए एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का वादा भी किया गया है.इस बीच, भारतीय सेना और वायुसेना ने ‘अग्निवीरों’ की भर्ती का ऐलान कर दिया है। जल्द ही भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा।

गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि उम्र सीमा में छूट के फैसले से बड़ी संख्या में युवाओं को फायदा होगा। हालांकि, प्रदर्शनकारियों ने नई भर्ती योजना को वापस लेने की मांग की। छात्र सेना में चार साल की भर्ती वाली इस योजना से नाराज हैं। उनका कहना है कि चार साल की नौकरी के बाद 25 प्रतिशत छात्रों को तो नौकरी मिल जाएगी, लेकिन 75 फीसदी लोग बेरोजगार हो जाएंगे।कई राज्यों ने पुलिस भर्ती में अग्निवीरों को प्राथमिकता देने की घोषणा की है। कई विभागों ने इन लोगों की प्राथमिकता देने की घोषणा की है। लेकिन प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना है कि ये सब कोई काम नहीं आएगा। नए नियम नहीं लागू होने चाहिए। अग्निपथ योजना के विरोध-प्रदर्शन की लाइव अपडेट्स के लिए बने रहें नवभारत टाइम्‍स ऑनलाइन के साथ।

 422 total views,  2 views today

Spread the love