• November 16, 2023

कोई दूध का धुला नहीं, मुझसे गलती हुई है और… रेव पार्टी कांड के बीच आया एल्विश यादव का नया वीडियो

कोई दूध का धुला नहीं, मुझसे गलती हुई है और… रेव पार्टी कांड के बीच आया एल्विश यादव का नया वीडियो

नई दिल्ली: सांपों के जहर और विदेशी लड़कियों वाली रेव पार्टी की वजह से विवादों में आए एल्विश यादव का एक नया वीडियो सामने आया है, जिसमें वह अपनी गलती मानते नजर आ रहे हैं. फेमस यूट्यूबर और बिगबॉस ओटीटी-2 विनर एल्विश यादव ने अपना एक नया वीडियो व्लॉग जारी किया है, जिसमें वह कहते नजर आ रहे हैं कि उनसे गलतियां हुई हैं और वह इसे स्वीकार भी करते हैं. हालांकि, उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया है कि उनका यह बयान रेव पार्टी के संदर्भ में है या नहीं. उनके व्लॉग को शुरू से अंत तक देखने के बाद यह जरूर स्पष्ट हो जाता है तो उनका यह व्लॉग ‘बिग बॉस 17’ के कंटेस्टेंट यूके 07 राइडर उर्फ अनुराग डोभाल के समर्थन में ही है.

दरअसल, अपने करीब 15 मिनट के व्लॉग में एल्विश यादव ने कहा, ‘कोई दूध का धुला नहीं होता है. हम भी बुरे थे और अब सुधर रहे हैं. हम अपनी गलती भी मानते हैं. हम स्वीकार कर रहे हैं कि हम गलत थे, अब हम सुधर रहे हैं. उम्र के साथ चीजें बदलती रहती हैं.’ एल्विश यादव ने यह भी कहा कि जब खराब टाइम आता है तो पता चल जाता है कि कौन अपना है और कौन पराया है. इस वीडियो में एल्विशक यादव ‘बिग बॉस 17’ के कंटेस्टेंट यूके 07 राइडर उर्फ अनुराग डोभाल के पक्ष में सपोर्ट मांगते दिखते हैं. पर यह स्पष्ट नहीं हो रहा कि वह किस गलती की बात कर रहे हैं.

गौरतलब है कि नोएडा में रेव पार्टी में सांप के विष के संदिग्ध उपयोग के मामले में एल्विश यादव बुरी तरह फंसे हुए हैं. सपेरों समेत पांच लोग और यूट्यूबर एल्विश यादव वन्यजीवन संरक्षण अधिनियम, 1972 के प्रावधानों तथा भादंसं की आपराधिक साजिश धारा के तहत दर्ज मामले में छह नामजद आरोपी हैं. आरोपियों– राहुल (32), टीटू नाथ (45) ,जयकरण (50) ,नारायण (50) तथा रवि नाथ (45) को तीन नवंबर को नोएडा के एक बैंक्वेट हॉल से गिरफ्तार किया गया था और उन्हें न्यायिक हिरासत में भेजा गया था. पांचों दक्षिण पूर्वी दिल्ली के बदरपुर में मोहरबंद गांव के रहने वाले हैं.

बता दें कि जानवरों के अधिकारों के लिए काम करने वाले संगठन पीपुल्स फॉर एनीमल्स (पीएफए) की एक अधिकारी की शिकायत पर यह मामला दर्ज किया गया था. पीएफए की अध्यक्ष और भाजपा नेता मेनका गांधी ने यादव पर सांप के विष की अवैध बिक्री में संलिप्त रहने का आरोप लगाया था और उनकी गिरफ्तारी की मांग की थी. चार नवंबर को राजस्थान के कोटा में पुलिस ने एल्विश यादव को कुछ देर के लिए पूछताछ के वास्ते रोका था, लेकिन बाद में छोड़ दिया था. वह एक कार में अपने दोस्तों के साथ जा रहा था.

 138 total views,  4 views today

Spread the love