• May 28, 2022

कर्नाटक में हिजाब पहनकर यूनिवर्सिटी पहुंची छात्राएं, क्लास में एंट्री करने से रोका

कर्नाटक में हिजाब पहनकर यूनिवर्सिटी पहुंची छात्राएं, क्लास में एंट्री करने से रोका

नई दिल्ली। कर्नाटक में हिजाब और मलाली मंदिर-मस्जिद विवाद का शोर फिर से तेज होने लगा है. इसका सबसे ज्यादा असर दक्षिण कन्नड़, उत्तर कन्नड़ और उडुपी के तटीय इलाकों में देखने को मिल रहा है. कर्नाटक की मैंगलोर यूनिवर्सिटी में हिजाब विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. लिहाजा आज 12 स्टूडेंट हिजाब पहनकर कैंपस में दाखिल हुईं. इन छात्राओं को क्लास में एंट्री करने से रोक दिया गया. मामला बढ़ने पर कॉलेज की प्रिंसिपल ने उन्हें समझाने की कोशिश की, लेकिन छात्राएं अपनी बात पर अड़ी रहीं.

शनिवार को मैंगलोर यूनिवर्सिटी कॉलेज में 12 छात्राएं हिजाब पहनकर आई थीं. जब इस बात की जानकारी कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. अनसूया राय को हुई तो उन्होंने छात्राओं से कहा कि वह हिजाब हटाकर क्लास रूम में प्रवेश कर सकती हैं. लेकिन छात्राओं का कहना था कि वह हिजाब नहीं हटाएंगी. लिहाजा छात्राओं को क्लासरूम में प्रवेश नहीं दिया गया. इसके बाद जब वह लाइब्रेरी में पहुंची तो वहां भी उन्हें एंट्री करने से रोक दिया गया. जब छात्राओं को प्रवेश देने से इनकार कर दिया गय़ा तो वह अपने घर लौट गईं.

दरअसल, गर्मियों की छुट्टी के बाद स्कूल और कॉलेज फिर से शुरू हो गए हैं और हिंदू छात्रों ने कक्षाओं में हिजाब पहनने के खिलाफ विरोध शुरू कर दिया है.सत्तारूढ़ भाजपा सरकार ने जोर देकर कहा है कि स्कूल में केवल यूनिफॉर्म की अनुमति है. मंगलुरु के यूनिवर्सिटी कॉलेज में हो रहे विरोध प्रदर्शन को बीजेपी विधायक वेदव्यास कामत सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने कॉलेज डेवलपमेंट एंड मैनेजमेंट कमेटी के सदस्यों और छात्रों के साथ बैठक की. बैठक में मंगलुरु विश्वविद्यालय के कुलपति और कुलसचिव भी शामिल रहे.

 453 total views,  2 views today

Spread the love