• January 5, 2022

CDS बिपिन रावत हेलिकॉप्टर दुर्घटना की जांच रिपोर्ट आई

CDS बिपिन रावत हेलिकॉप्टर दुर्घटना की जांच रिपोर्ट आई

नई दिल्ली। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) बुधवार को भारतीय वायु सेना (IAF) से 8 दिसंबर को Mi-17V5 हेलिकॉप्टर दुर्घटना के कारणों के बारे में एक ब्रीफिंग दी। इस हेलिकॉप्टर हादसे में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत (Bipin Rawat), उनकी पत्नी और 12 अन्य सैन्यकर्मियों की मौत हो गई थी। रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय वायु सेना के एक अधिकारी की अध्यक्षता में त्रि-सेवा जांच दल ने राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) को एक विस्तृत प्रस्तुति दी।

बता दे की तमिलनाडु के कुन्नूर में MI-17वी5 हेलिकॉप्टर दुर्घटना की जांच करने वाली टीम में भारतीय नौसेना के एक वरिष्ठ हेलिकॉप्टर पायलट और एक सेना अधिकारी शामिल थे। एएनआई ने आगे बताया कि त्रि-सेवा जांच दल ने रक्षा बलों के वरिष्ठ अधिकारियों को ले जाने वाले हेलिकॉप्टरों के संचालन के दौरान मानक संचालन प्रक्रियाओं को संशोधित करने के लिए कुछ सिफारिशें भी की हैं। कई सिफारिशों के बीच यह सुझाव दिया गया है कि चालक दल मास्टर ग्रीन और अन्य श्रेणी के पायलटों का मिश्रण होना चाहिए।

बता दे की 3 बलों के परिवहन विमान और हेलीकॉप्टर बेड़े में सर्वश्रेष्ठ पायलटों को मास्टर ग्रीन श्रेणी दी जाती है क्योंकि वे वही हैं जो कम दृश्यता में भी उतर सकते हैं या उड़ान भर सकते हैं। तमिलनाडु में कुन्नूर के पास एक MI -17वी5 दुर्घटना में जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) और 13 अन्य सैन्यकर्मियों की मौत हो गई थी। सूत्रों के हवाले से पीटीआई की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि यह दुर्घटना भारतीय वायुसेना के Mi-17V5 हेलीकॉप्टर में किसी तकनीकी त्रुटि के कारण नहीं हुई है। हालांकि इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं है।

 604 total views,  2 views today

Spread the love