• July 21, 2022

पीएम मोदी के ‘रेवड़ी कल्चर’ वाले बयान पर केजरीवाल का पलटवार, कहा…

पीएम मोदी के ‘रेवड़ी कल्चर’ वाले बयान पर केजरीवाल का पलटवार, कहा…

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) गुरुवार को गुजरात दौरे पर पहुंचे. यहां उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के ‘रेवड़ी कल्चर’ वाले बयान पर पलटवार किया. अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा, हमने जनता में जो फ्री की रेवड़ी बांटी है, वो भगवान का प्रसाद है, जैसे फ्री बिजली, फ्री शिक्षा देना. लेकिन ये लोग फ्री की रेवड़ी सिर्फ अपने दोस्तों को देते हैं, उनके कर्ज माफ करते हैं. ये पाप है. अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा, जनता को फ्री रेवड़ी देने से श्रीलंका जैसे हालात नहीं होते. अपने दोस्तों-मंत्रियों को देने से ऐसे हालात होते हैं. श्रीलंका वाला अपने दोस्तों को फ्री रेवड़ी देता था. अगर जनता को देता तो जनता उसके घर में घुसके उसे ना भगाती. जनता को फ्री रेवड़ी भगवान का प्रसाद है. दोस्तों को फ्री रेवड़ी देना पाप है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 16 जुलाई को बुंदेलखंड एक्सप्रेस का उद्घाटन करने यूपी के जालौन पहुंचे थे. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था कि ये ‘रेवड़ी कल्चर’ वाले कभी आपके लिए नए एक्सप्रेसवे नहीं बनाएंगे, नए एयरपोर्ट या डिफेंस कॉरिडोर नहीं बनाएंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा था कि ‘रेवड़ी कल्चर’ वालों को लगता है कि जनता जनार्दन को मुफ्त की रेवड़ी बांटकर, उन्हें खरीद लेंगे. हमें मिलकर उनकी इस सोच को हराना है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने अपने बयान में किसी भी नेता या पार्टी का नाम नहीं लिया था. हालांकि, माना जा रहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ये तंज दिल्ली की सत्ताधारी AAP सरकार पर कसा है. दरअसल, आम आदमी पार्टी ने दिल्ली के पंजाब में भी सरकार बनने के बाद फ्री बिजली और फ्री पानी देने का ऐलान किया है. अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) पर पलटवार भी किया था. उन्होंने कहा था कि अपने देश के बच्चों को मुफ्त और अच्छी शिक्षा देना और लोगों का अच्छा और मुफ्त इलाज करवाना, इसे मुफ्त की रेवड़ी बांटना नहीं कहते. हम एक विकसित और गौरवशाली भारत की नींव रख रहे हैं. ये काम 75 साल पहले हो जाना चाहिए था.

 429 total views,  2 views today

Spread the love