जानिए क्या है डेंगू बुखार के कारण, लक्षण और बचाव!

जानिए क्या है डेंगू बुखार के कारण, लक्षण और बचाव!

इंटरनेट डेस्क। बदलते मौसम के साथ साथ कई तरह की बीमारिया भी आती है जैसे बारिश की मौसम में जॉन्डिस, मलेरिया, वायरल , डेंगू आदि डेंगू देश में लगातार बढ़ते नजर आ रहे आ डेंगू बुखार यदि समय रहते सही इलाज नहीं किया जाये तो व्यक्ति की मौत भी हो सकते है यह बुखार मच्छर से होता है जो की बड़े बूढ़े बच्चे किसी को भी अपनी चपेट में ले लेता है आज हम आपको डेंगू के लक्षण कारण के साथ ये भी बताएंगे की डेंगू बुखार से कैसे बचा जा सकता है तो आईये जानते डेंगू से बचाव के कुछ उपाय क्या है।

डेंगू बुखार होने या फैलने के कारन –

डेंगू बुखार इन मच्छरों के काटने से होता है ये मच्छर एडिज इजिप्टी एडिजएल्बोपिक्टर नाम से जाने जाते है। किसी स्वस्थ व्यक्ति को मच्छर के काटने पर ये व्यक्ति के रक्तप्रवाह के ज़रिये फैलता है बारिश के मौसम में यह और भी असरदार हो जाते है क्योकि बारिश का पानी टंकियों नालियों में और आस पास जमा हुआ पानी जो मच्छरों को पनपने में मदद करते है जिससे मच्छर घरों में आकर खान पान की चीजों पर बैठते है और ये घर में रखे पानी में भी रहने लगते है और फिर ये इंसान को काटते है जिससे डेंगू मलेरिया खासी वायरल बुखार होने लगते है।

डेंगू के लक्षण – डेंगू का सबसे पहला लक्षण मतली, शरीर पर लाल दाने और उल्टी तेज बुखार जो इंसान के शरीर को कमजोर बनता है।

डेंगू बुखार से बदन टूटना: डेंगू में ज़्यादातर जोड़ों में दर्द , मांसपेशियों में और हड्डियों में दर्द होता है।जी मिचलाना उल्टी आना या नॉज़ीआ भी एक लक्षण है। जिसमे इन्सान को कुछ भी खाने का मन नहीं करता और खाने के तुरंत बाद वह उसे उल्टी आना इंसान के पर चकत्ते या रैशेस: डेंगू में छोटे लाल चकत्ते या रैशेस हो जाते है। इंसना के शरीर के अंदर पलटलेट्स गिरने लगती है जिससे शरीर कमजोर होने लगता है।आँखों के पीछे दर्द, ग्रंथियों में सूजन आना, सर दर्द होना रक्तदाब का सामान्य से भी काम होना , अचानक ठण्ड लगके तेज बुखार आना।

डेंगू के उपचार व बचने के तरीके –

शरीर में पानी की कमी न होने दे – इस बीमारी से बचने के लिए शरीर में पानी की कमी न होने दे और ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पिए जैसे फलों का रस पीना किये सूप नारियल पानी, अनार अनानास के रास सेवन करना चाइये रिहाइड्रेशन ही सबसे अच्छी थेरेपी होती है।

हरी सब्जियों का सेवन – डेंगू बुखार के इलाज में हरी सब्जियों का सेवन बहुत अच्छा होता है हरी सब्जियों का के पत्तो का सूप बनाकर पिये या सलाद, सब्जियाँ बनाकर ले।

शुद्ध चीजे खाये पिये – शुद्ध और स्वच्छ चिजे खाने पिने से हम किसी भी बीमारी से लड़ या बच सकते है और डेंगू बुखार से भी अपने खाने पिने की चीजों को स्वच्छ रखें।

बकरी का दूध – डेंगू के इलाज में बकरी का दूध बहुत जरूरी और लाभदायक होता है। इससे बचने के लिए मच्छर दानी का प्रयोग करे और गंदगी से बचे। आस पास पानी जमा न होने दे और लम्बे समय तक पानी जमा न रखे पानी में गन्दगी न होने दे और पानी को ढककर रखे पिने का पानी बदलते रहना चाहिए ताकि मच्छर पनपने का खतरा न रहे। अपने खान पान का विशेष धयान रखें।

 451 total views,  2 views today

Spread the love