• July 18, 2022

Sawan 2022: सावन का पहला सोमवार, 18 से 24 साल के लोगों के लिए विशेष उपाय

Sawan 2022: सावन का पहला सोमवार, 18 से 24 साल के लोगों के लिए विशेष उपाय

नई दिल्ली। सावन के सोमवार भगवान शिव की पूजा सर्वोत्तम होती है. इस दिन मुख्य रूप से शिवलिंग की पूजा होती है और उस पर गंगाजल व बेलपत्र चढ़ाया जाता है. वैवाहिक जीवन से जुड़ी समस्या हो या मनचाहे जीवनसाथी को पाने की चाहत, सावन के सोमवार का महत्व हर मायने में खास है, कांवड़ियों के लिए आज का दिन बेहद अहम होता है.

सावन के महीने में शिवजी की पूजा से भाग्य बदल सकता है. सावन में जल तत्व की मात्रा ज्यादा होती है जो वास्तव में पारिवारिक जीवन का कारक तत्व है. मंगल दोष, ग्रहण योग या विवाह न होने का योग सावन में ज्यादा बेहतर तरीके से शांत किया जा सकता है. अगर सावन के महीने में शिव और पार्वती की संयुक्त पूजा की जाए तो न केवल विवाह शीघ्र हो सकता है, बल्कि अगर वैवाहिक जीवन में बाधा है तो वो भी दूर हो जाती है.

 

जिन लोगों को उम्र 18 से लेकर 24 साल है, वो सावन में नियमित रूप से पीले वस्त्र धारण करें. शाम के वक्त शिव-पार्वती की संयुक्त पूजा करें. शिव पार्वती को संयुक्त रूप से एक ही माला अर्पित करें और “ॐ गौरी शंकराय नमः ” मंत्र का जाप करें. यह प्रयोग सावन में लगातार 09 दिन करना होगा. ऐसा करने वालों की सभी मनोवांछित मनाकामनाएं पूरी होंगी.

 464 total views,  2 views today

Spread the love