• November 19, 2023

Vastu Tips: वास्तु शास्त्र के अनुसार भूलकर भी घर के मंदिर में इस दिशा में ना रखें दीपक की लौ, हो सकती है कई समस्याएं !

Vastu Tips: वास्तु शास्त्र के अनुसार भूलकर भी घर के मंदिर में इस दिशा में ना रखें दीपक की लौ, हो सकती है कई समस्याएं !

क्या आप जानते हैं कि घर में दीपक जलाने को लेकर कुछ जरूरी नियमों के बारे में वास्तु शास्त्रों में बताया गया है। वास्तु शास्त्र के अनुसार मंदिर में केवल दीपक जलाना काफी नहीं होता है बल्कि दीपक की लौ किस दिशा में है इस बात का भी मुख्य रूप से ध्यान रखना पड़ता है। दरअसल वास्तु शास्त्र में पूजा सामग्री रखने के कुछ खास नियमों के बारे में बताया गया है अगर आप इन नियमों को ध्यान में रखते हुए पूजा पाठ करते हैं तो आपको पूजा का पूर्ण फल मिलता है। इसके अलावा अगर आप यह पाठ के इन नियमों को नजरअंदाज कर देते हैं तो आपको कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। आइए इस लेख के माध्यम से आपको बताते है कि वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के मंदिर में दीपक जलाने और उससे जुड़े नियमो के बारे में –

* दक्षिण दिशा में न रखें दीपक :

वास्तु शास्त्र के अनुसार बताया जाता है कि घर के मंदिर में कभी भी दक्षिण दिशा में दीपक रखने की गलती ना करें क्योंकि ऐसा करने से आपको आर्थिक हानि का सामना करना पड़ सकता है। बता दे कि दक्षिण दिशा को यमराज की दिशा के रूप में जाना जाता है इसीलिए कभी भी दीपक की लौ दक्षिण दिशा में ना रखे।

* हमेशा पूर्व दिशा में रखें दीपक :

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के पूर्व दिशा में दीपक की लौ रखना शुभ माना जाता है। कहा जाता है की पूर्व दिशा में दीपक की लौ कर के रखने से व्यक्ति की उम्र बढ़ती है और वह स्वस्थ्य रहता है।

* पश्चिम दिशा में रखें दीपक :

वास्तु शास्त्र के अनुसार पश्चिम दिशा को भी दीपक रखने के लिए शुभ बताया गया है। वास्तु शास्त्र के अनुसार पश्चिम दिशा में दीपक रखने से व्यक्ति को हर समस्या से छुटकारा मिल सकता है।

* उत्तर दिशा में रखें दीपक :

वास्तु शास्त्र के अनुसार बताया जाता है कि उत्तर दिशा में दीपक की लौ करके रखने से व्यक्ति को धन लाभ होता है। उत्तर दिशा को दीपक रखने के लिए शुभ माना जाता है इसीलिए किसी भी प्रकार की आर्थिक परेशानी हो तो मंदिर में हमेशा उत्तर दिशा में दीपक जलाएं।

 77 total views,  2 views today

Spread the love