• December 4, 2023

बीजेपी की जीत के बाद संसद में क्या विपक्ष की बदलेगी रणनीति, शीतकालीन सत्र आज से

बीजेपी की जीत के बाद संसद में क्या विपक्ष की बदलेगी रणनीति, शीतकालीन सत्र आज से

नई दिल्‍ली: संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू होने वाला है। यह सत्र 22 दिसंबर को खत्‍म होगा। सत्र के 19 दिनों में 15 बैठकें होंगी। इस दौरान कई अहम बिलों पर चर्चा होगी। इस सत्र के काफी हंगामेदार रहने के आसार हैं। पहले ही दिन तृणमूल कांग्रेस सांसद महुआ मोइत्रा पर एथिक्स कमेटी अपनी रिपोर्ट पेश करेगी। उसने रिश्‍वत लेकर सवाल पूछने के आरोप में टीएमसी सांसद को निष्‍कासित करने की सिफारिश की है। हिंदी पट्टी के तीन राज्यों के विधानसभा चुनावों में अपनी जीत से भारतीय जनता पार्टी (BJP) उत्साहित है। सोमवार से शुरू हो रहे संसद के शीतकालीन सत्र में वह कांग्रेस समेत समूचे विपक्ष को घेरने की कोशिश करेगी। इसके उलट विपक्षी दल मणिपुर और जांच एजेंसियों के दुरुपयोग जैसे कुछ विषय उठाने का प्रयास कर सकते हैं।

व‍िपक्ष कर रहा है घेरने की तैयारी
इस सत्र के दौरान लोकसभा में उस वक्त हंगामा हो सकता है, जब सदन की आचार समिति की रिपोर्ट पेश की जाएगी। इसमें तृणमूल कांग्रेस सांसद महुआ मोइत्रा को ‘रिश्वत लेकर सवाल पूछने’ के आरोप में निष्कासित करने की अनुशंसा की गई है। विपक्षी गठबंधन I.N.D.I.A के नेता संसद के अंदर और चुनावी मैदान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली बीजेपी से मुकाबला करने के लिए अपनी रणनीतियों को नए सिरे से तैयार करने के लिए सोमवार सुबह बैठक करेंगे। कांग्रेस के एक नेता ने बताया कि I.N.D.I.A गठबंधन संसदीय नेताओं की बैठक सोमवार सुबह 10 बजे राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के कक्ष में होगी।

शीतकालीन सत्र के बारे में पूछे जाने पर संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी कह चुके हैं कि अगर विपक्ष संसद को बाधित करता है तो उसे रविवार से भी बुरे नतीजों का सामना करना पड़ेगा। सरकार ने शीतकालीन सत्र की 15 बैठकों के लिए भारी विधायी एजेंडा पेश किया है। इसमें औपनिवेशिक युग के आपराधिक कानूनों के स्थान पर लाए गए प्रमुख विधेयक, निर्वाचन आयुक्तों की नियुक्ति के लिए एक रूपरेखा प्रदान करने से संबंधित विधेयक शामिल है।

महुआ मोइत्रा पर हो सकता है बड़ा ऐक्‍शन

संसद में ‘सवाल पूछने के लिए पैसे लेने’ से संबंधित शिकायत पर मोइत्रा को निचले सदन से निष्कासित करने की सिफारिश करने वाली लोकसभा की आचार समिति की रिपोर्ट भी सत्र के पहले दिन सोमवार को सदन में पेश किए जाने के लिए सूचीबद्ध है। रक्षा मंत्री और लोकसभा में उपनेता राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में शनिवार को हुई सर्वदलीय बैठक में तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने मोइत्रा को सदन से निष्कासित करने का कोई भी निर्णय लेने से पहले आचार समिति की रिपोर्ट पर लोकसभा में चर्चा कराने की मांग की थी। विपक्षी नेताओं ने पुराने आपराधिक कानूनों के स्थान पर लाए जा रहे तीन विधेयकों के अंग्रेजी में नाम, महंगाई, जांच एजेंसियों के ‘दुरुपयोग’ और मणिपुर पर चर्चा की मांग की थी।

 93 total views,  4 views today

Spread the love