• July 14, 2022

यशवंत सिन्हा का बड़ा बयान, कहा- द्रौपदी मुर्मू को समर्थन करने के लिए उद्धव ठाकरे को किया है ‘मजबूर’

यशवंत सिन्हा का बड़ा बयान, कहा- द्रौपदी मुर्मू को समर्थन करने के लिए उद्धव ठाकरे को किया है ‘मजबूर’

नई दिल्ली: राष्ट्रपति चुनाव की तारीखें नजदीक आ गई हैं. महाराष्ट्र में बड़ी सियासी हलचल के थमने के बाद अब शिवसेना ने राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) को समर्थन देने का ऐलान किया है. राष्ट्रपति चुनाव में शिवसेना नेता उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) द्वारा एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) को समर्थन देने की घोषणा करने के बाद विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा की प्रतिक्रिया आई है. विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) ने उद्धव ठाकरे द्वारा एनडीएम उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) को समर्थन करने को लेकर टिप्पणी की है. उन्होंने कहा कि उद्धव ठाकरे को मजबूर किया गया है कि वो राष्ट्रपति चुनाव में द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) के समर्थन करे.

यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) गुवाहाटी में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे. बता दें कि कुछ दिन पहले ही उद्धव ठाकरे ने ऐलान किया था कि राष्‍ट्रपति के लिए चुनाव में उनके नेतृत्‍व वाली शिवसेना, बीजेपी नीत एनडीए की प्रत्‍याशी द्रौपदी मुर्मू (Droupadi Murmu) का समर्थन करेगी. शिवसेना के एकनाथ शिंदे गुट और बीजेपी के हाथों सत्ता गंवा चुके उद्धव ठाकरे ने कहा था उनकी छोटी सोच नहीं है और शिवसेना द्वारा एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू (Droupadi Murmu) का समर्थन इसका संकेत देता है.राष्‍ट्रपति पद के लिए वोटिंग 18 जुलाई को होनी है. यह फैसला पार्टी के 22 सांसदों में से 16 सांसदों की उद्धव ठाकरे के साथ मीटिंग में किए गए अनुंरोध के एक दिन बाद सामने आया है.

 

इन 16 सांसदों ने ठाकरे से आग्रह किया था कि राष्‍ट्रपति चुनाव में पार्टी को एनडीए कैंडिडेट द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) को वोट करना चाहिए क्‍योंकि वे आदिवासी समुदाय की महिला हैं.राष्‍ट्रपति चुनाव के लिए NDA की प्रत्‍याशी द्रौपदी मुर्मू (Draupadi Murmu) का मुकाबला विपक्ष के उम्‍मीदवार यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) से है. एकनाथ शिंदे धड़े के टूटने और बीजेपी के समर्थन से सीएम के तौर पर उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) की जगह लेने के बाद से शिवसेना संकट का सामना कर रही है. महाराष्‍ट्र की जनसंख्‍या की करीब 10 फीसदी अनुसूचित जनजाति से है.

 400 total views,  2 views today

Spread the love