• August 22, 2022

IND vs ZIM: टीम से बार-बार अंदर-बाहर होने पर संजू सैमसन के दिया ये बयान, कहा…

IND vs ZIM: टीम से बार-बार अंदर-बाहर होने पर संजू सैमसन के दिया ये बयान, कहा…

इंटरनेट डेस्क। जिम्बाब्वे के खिलाफ 3 मैचों की सीरीज में संजू सैमसन (Sanju Samson) भारतीय टीम का हिस्सा हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दे की जुलाई 2015 में संजू सैमसन (Sanju Samson) ने अपने करियर का पहला इंटरनेशनल मैच खेला था। डेब्यू के सात साल के अंदर संजू सैमसन (Sanju Samson) ने कुल मिलाकर 6 वनडे और 16 टी20 इंटरनेशनल मैच ही खेले हैं। इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि वह कई बार टीम से अंदर-बाहर होते रहे हैं, लेकिन इसको देखने का उनका अपना अलग नजरिया है। संजू सैमसन (Sanju Samson) का मानना है कि जिंदगी में जो कुछ होता है, उसका आप पर पॉजिटिव असर पड़ता है। संजू सैमसन (Sanju Samson) ने पिछले मैच में 39 गेंद पर नॉटआउट 43 रनों की पारी खेली थी। संजू सैमसन (Sanju Samson) जब बल्लेबाजी के लिए आए थे, तब टीम इंडिया ने 100 रनों के अंदर चार विकेट गंवा दिए थे।

बता दे की तीसरे वनडे इंटरनेशनल से पहले संजू सैमसन (Sanju Samson) ने कहा, ‘मुझे बीच में बल्लेबाजी करने का ज्यादा मौका नहीं मिला है, तो प्रेशर सिचुएशन में मैं खुद को टेस्ट करना चाहता था। वह कुछ अच्छी बाउंसर गेंद फेंक रहे थे, लेकिन बीच में बल्लेबाजी करने का मजा आया। टीम से बार-बार अंदर-बाहर होने को लेकर उन्होंने कहा, ‘ईमानदारी से कहूं तो आप जीवन में जिन परिस्थितियों से गुजरते हैं, उसका आपके जीवन पर पॉजिटिव असर होता है।

 

संजू सैमसन (Sanju Samson) ने आगे कहा, ‘निश्चित तौर पर अपने सभी दोस्तों को देश के लिए खेलते हुए देखना मुश्किल समय था, लेकिन मुझे इस दौरान डोमेस्टिक मैच खेलकर भी मजा आया। कप्तानी ने खेल को लेकर मेरा नजरिया बदला है, इससे माइंडसेट अलग हुआ है और मेरा क्रिकेटिंग ब्रेन भी बेहतर हुआ है। मुझे हैरानी होती है कि जब मैं कहीं भी जाता हूं और लोगों का मुझे इतना सपोर्ट मिलता है, कई लोग मुझे ‘चेट्टा’ पुकारते हैं। मलयाली होने और मलयाली क्रिकेटर होकर अपने देश के लिए खेलने को लेकर मुझे गर्व है। भारत ने पहले दो मैच जीतकर सीरीज पर पहले ही कब्जा कर लिया है।

 443 total views,  2 views today

Spread the love